चैन्नई. इंडिया डेटलाइन. मंगलवार को जब पूरा देश स्वामी विवेकानंद की जयंती को युवा दिवस के रूप में मना रहा था, तब विवेकानंद के ईसाई समर्थक ऊटी के चर्च में विवेकानंद के स्टेनोग्राफर की 150 वीं जयंती मनाने के लिए इकट्ठे थे।

स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर 153 साल पुराने सेंट थॉमस चर्च में जेजे गुडविन की‌ जयंती मनाई गई। गुडविन स्वामी विवेकानंद के स्टेनोग्राफर थे जिनकी कब्र इस चर्च में बनी है।‌ विश्व युवा दिवस पर विवेकानंद के साथ ही युवा गुडविन को याद किया गया। गुडविन 18 98 में ऊटी में रुके हुए थे। तब स्वामी विवेकानंद जापान की यात्रा पर थे। गुडविन को टाइफाइड हुआ और 2 जून 1898 को 28 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया।

विवेकानंद के अनुयायी दुनिया भर में गुडविन की 150 वी जयंती मना रहे हैं। गुडविन की मृत्यु पर स्वामी विवेकानंद ने कहा था,- ‘उन्हें ऐसा लग रहा है जैसे उनका दाहिना हाथ टूट गया।’ मंगलवार को चर्च में श्री रामकृष्ण मठ और मानस आध्यात्मिक संगठन ने कार्यक्रम आयोजित किया। गुडविन स्टेनोग्राफी में दक्ष थे और स्वामीजी के व्याख्यान ओं को दर्ज करते थे। उन्होंने स्वामीजी के साथ अमेरिका और भारत की यात्रा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here