भोपाल. इंडिया डेटलाइन. केन्द्र सरकार की ‘खेलो इंडिया अभियान’ के बाद से समाज में विभिन्न खेलों के प्रति रुझान बढ़ा है। भोपाल सहित देश के विभिन्न राज्यों में खेलों के प्रति सकारात्मक माहौल बन रहा है।

यह बात मप्र के खेल संचालक पवन जैन ने आज राजधानी में ‘खेल पत्रकारिता के आयाम’ पुस्तक का विमोचन समारोह करते हुए कही। यह पुस्तक सागर में पत्रकारिता के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. आशीष द्विवेदी ने लिखी है। कार्यक्रम के मुख्य वक़्ता वरिष्ठ पत्रकार  शिवकुमार विवेक थे। अध्यक्षता माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति केजी सुरेश ने की।  विशिष्ट अतिथि हिंदुस्तान टाइम्स ब्यूरो की खेल संवाददाता  श्रुति तोमर भदौरिया थीं।

शिवकुमार विवेक ने कहा कि कहा कि यह पुस्तक खेल पत्रकारिता का संपूर्ण संदर्भ ग्रंथ है।  उन्होंने कहा कि खेलों के प्रति बढ़ती रुचि के साथ खेल पत्रकारिता भी विकसित हुई है लेकिन इसको इतनी रुचिकर, सर्वांगीण और कलात्मक बनाना होगा कि खेल की पाठकीयता भी बढ़े। खेल के पृष्ठ को अखबार का आखिरी पन्ना ही न समझा जाए। श्री विवेक ने मध्यप्रदेश की खेल पत्रकारिता के विकास की चर्चा करते हुए कहा कि इंदौर से तीन-तीन खेल पत्रिकाएँ निकलीं लेकिन वे बंद हो गईं। उसका विश्लेषण करना चाहिए। खेल की प्रोफ़ेशनल रिपोर्टिंग बड़े शहरों में ही क्यों हो, छोटे नगरों में भी उसकी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए प्रशिक्षण का दायरा वहाँ तक ले जाया जाए। यह पुस्तक इसमें सहायक होगी।

कुलपति श्री सुरेश ने कहा कि खेल पत्रकारिता के अध्ययन में डिजीटल माध्यम की पत्रकारिता के साथ ग़ैर सरकारी संस्थाओं के प्रयासों को भी सम्मिलित किया जाए।  क्रीड़ा भारती जैसी कई संस्थाएं बेहतर काम कर रही हैं। उन्होंने पुस्तक लेखन की विधा में शोध और गहरे अध्ययन की जरूरत बताई। श्री सुरेश ने कहा कि डॉ.आशीष की पुस्तक इस जरूरत को पूरा करती है। श्रुति तोमर ने महिला खिलाड़ियों के प्रदर्शन में लैंगिक असमानता की चर्चा की।  कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापक लोकेन्द्र सिंह ने किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here