नई दिल्ली. इंडिया डेटलाइन. प्रधानमंत्री ने मन की बात में जल बचाने की तकनीक के संदर्भ में मध्यप्रदेश के जिस बुंदेलखंड क्षेत्र की बबीता का उल्लेख किया, उसे इंडिया डेटलाइन गत 22 नवंबर को प्रकाशित रूबी सरकार की रिपोर्ट में प्रकाश में लाई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सुबह मन की बात में कहा- मप्र के अगरोधा गांव की बबीता राजपूत जो भी कर रही हैं, उससे आप सबको प्रेरणा मिलेगी। उनके गांव के पास कभी बड़ी झील थी जो सूख गई। उन्होंने गांव की दूसरी महिलाओं को साथ लिया और झील तक पानी ले जाने के लिए एक नहर बना दी। इस नहर से बारिश का पानी झील में जाने लगा। अब झील पानी से भरी रहती है। गांव अगरोधा छतरपुर जिले की भेल्दा पंचायत में भेल्दा से सटा छोटा सा गांव है।

रूबी सरकार की छतरपुर से की गई ग्राउंड रिपोर्ट यह गांव बता देगा कोरोना राहत व सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की हकीकत में बताया गया था कि गांव में सबसे पढ़ी-लिखी बबीता राजपूत हैं। वे बताती हैं कि पानी के संकट से मुक्त करने के लिए यहां की महिलाओं ने बैठक की. पहले कुछ महिलाएं आगे आईं, फिर देखते-देखते सात गांवों की लगभग दो सौ से अधिक महिलाओं ने इस श्रमदान में भाग लेकर ग्रामीण तकनीक से मात्र तीस दिन में पानी के लिए एक नाला बना दिया। रिपोर्ट में बताया गया था बबीता बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा है। वह रोज 24 किलोमीटर साइकल चलाकर कॉलेज पढ़ने के लिए जाती हैं।

यह गाँव बता देगा कोरोना राहत व सरकार की कल्याण योजनाओं की हक़ीक़त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here